Sayyadi Ant Habeebee Lyrics

 

मुद्दआ़ ज़ीस्त का मैंने पाया
रह़मते-हक़ ने किया फिर साया
मेरे आक़ा ने करम फ़रमाया
फिर मदीने का बुलावा आया

पेहले कुछ अश्क बहा लूं तो चलूं
एक नई नात सुना लूं तो चलूं

सय्यदी अन्त हबीबी,

सय्यदी अन्त हबीबी,

सय्यदी अन्त हबीबी

चाँद तारे भी मुझे देखेंगे
माह पारे भी मुझे देखेंगे
खुद नज़ारे भी मुझे देखेंगे
ग़म के मारे भी मुझे देखेंगे

मैं नज़र सब से बचा लूं तो चलूं
एक नई नात सुना लूं तो चलूं

सय्यदी अन्त हबीबी,

सय्यदी अन्त हबीबी,

सय्यदी अन्त हबीबी

शुक्र में सर को झुकाने के लिये
दाग़ हसरत के मिटाने के लिये
बख़्त ख़्वाबीदा जगाने के लिये
उन के दरबार में जाने के लिये

अपनी अवक़ात बना लूं तो चलूं
एक नई नात सुना लूं तो चलूं

सय्यदी अन्त हबीबी, सय्यदी अन्त हबीबी, सय्यदी अन्त हबीबी

सामने हो जो दरे-लुत्फ़ो-करम
यूं करूं अर्ज़ के या शाहे-उमम
आ गया आप का मोहताज, करम
इस गुनाहगार का रखिएगा भरम

शौक़ को अर्ज़ बना लूं तो चलूं
एक नई नात सुना लूं तो चलूं

सय्यदी अन्त हबीबी,

सय्यदी अन्त हबीबी,

सय्यदी अन्त हबीबी

उनकी मिदहत में है जीना मेरा
कैसे डूबेगा सफीना मेरा
देख लो चीर के सीना मेरा
दिल है या शेहरे मदीना मेरा

दिल अदीब अपना दिखा लूं तो चलूं
एक नई नात सुना लूं तो चलूं

सय्यदी अन्त हबीबी,

सय्यदी अन्त हबीबी,

सय्यदी अन्त हबीबी

 

 

 

Sayyadi Ant Habeebee Lyrics

 

 

Mudda Zeest Ka Mainne Paaya

Rah Mate-Haq Ne Kiya Phir Saaya

Mere Aaqa Ne Karam Faramaaya

Phir Madeene Ka Bulaava Aaya

 

 

Pehale Kuchh Ashk Baha Loon To Chaloon

Ek Nayee Naat Suna Loon To Chaloon

 

 

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee

 

 

Chaand Taare Bhee Mujhe Dekhenge

Maah Paare Bhee Mujhe Dekhenge

Khud Nazaare Bhee Mujhe Dekhenge

Gam Ke Maare Bhee Mujhe Dekhenge

 

Main Nazar Sab Se Bacha Loon To Chaloon

Ek Nayee Naat Suna Loon To Chaloon

 

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee

 

Shukr Mein Sar Ko Jhukaane Ke Liye

Daag Hasarat Ke Mitaane Ke Liye

Bakht Khvaabeeda Jagaane Ke Liye

Un Ke Darabaar Mein Jaane Ke Liye

 

 

Apanee Avaqaat Bana Loon To Chaloon

Ek Naee Naat Suna Loon To Chaloon

 

 

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee

Sayyadi Ant Habeebee

 

Saamane Ho Jo Dare-Lutfo-Karam

Yoon Karoon Arz Ke Ya Shaahe-Umam

Aa Gaya Aap Ka Mohataaj, Karam

Is Gunaahagaar Ka Rakhiega Bharam

 

 

Shauq Ko Arz Bana Loon To Chaloon

Ek Naee Naat Suna Loon To Chaloon

 

 

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee

 

 

Unakee Midahat Mein Hai Jeena Mera

Kaise Doobega Sapheena Mera

Dekh Lo Cheer Ke Seena Mera

Dil Hai Ya Shehare Madeena Mera

 

 

Dil Adeeb Apana Dikha Loon To Chaloon

Ek Naee Naat Suna Loon To Chaloon

 

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee,

Sayyadi Ant Habeebee

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.