Sher-e-Khuda Maula Ali Hindi Lyrics

मुश्किल-कुशा, हाजत-रवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली
हर ग़म की है तू ही दवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

काअबे का है गौहर अली, ज़हरा का है शौहर अली
बाबा है तू हसनैन का, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

मुश्किल-कुशा, हाजत-रवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली
हर ग़म की है तू ही दवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

सब से जुदा रिफ़अत तेरी, जान-ए-नबी अज़मत तेरी
कोई नहीं तेरे सिवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

मुश्किल-कुशा, हाजत-रवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली
हर ग़म की है तू ही दवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

ख़ुल्द-ए-बरी तेरी गली, कहते हैं ये सारे वली
तेरे गदा सब अवलिया, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

मुश्किल-कुशा, हाजत-रवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली
हर ग़म की है तू ही दवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

तू ही तो है ख़ैबर-शिकन, तू ही तो है बातिल-शिकन
गूंजे सदा नारा तेरा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

मुश्किल-कुशा, हाजत-रवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली
हर ग़म की है तू ही दवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

मंज़िल है तू, तू रास्ता, रहबर है तू, तू रहनुमा
गाज़ी तबीब, तू पेशवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

मुश्किल-कुशा, हाजत-रवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली
हर ग़म की है तू ही दवा, शेर-ए-ख़ुदा मौला अली

नातख्वां:
हाफ़िज़ अहमद रज़ा क़ादरी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.