Noor Wala Aaya Hai Naat Lyrics In Hindi

नूवर वाला आया है नूवर ले कर आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

जब तलाक़ ये चाँद तारे झिलमिलते जाएँगे
तब तलाक़ जश्न ए विलादत हम मानते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर लेकर आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

नाट ए महबूब ए खुदा सुनते सुनाते जाएँगे
या ऱसूलाल्लह का नारा लगाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर लेकर आया है
सारे आलम में ये देखो केसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

जश्न ए मिलाड ए मुबारक कैसे छोड़े हम भला
जिनका खाते हैं उन्ही के गीत गाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर ले कर आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

बहरे बखशीश पास अपने कुछ नही इसके साइवा
उम्र भर नाते सुनेंगे ओर सुनाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर लेके आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

नाट खावनी मौत भी हम से छुड़ा सकती नही
क़ब्र में भी मुस्तफ़ा के गीत गाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर ले कर आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

या ऱसूलाल्लह के नारे से हुमको प्यार है
हुँने यह नारा लगाया अपना बेड़ा पार है

नूवर वाला आया है नूवर लेके आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

चार जानिब हम दिए गीयी के जलाते जाएँगे
घर तो घर सारे मोहल्ले को सजाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर ले कर आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

एईद ए मिलाड उन नबी की शब चरागा कर के हम
क़ब्र नूवर ए मुस्तफ़ा से जगमगाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर लेके आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

तुम करो जश्न ए विलादत की खुशी में रोशनी
वो तुम्हारी गोर ए तीरा जगमगाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर ले कर आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

हश्र तक जश्न ए विलादत हम मनाते जाएँगे
मरहबा या मुस्तफ़ा की धूम मचाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर लेकर आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

हश्र में ज़ेरे लिवाए हंड ए अट्तर हम
नाट ए सुल्तान ए मदीना गुण गुणाते जाएँगे

नूवर वाला आया है नूवर ले कर आया है
सारे आलम में ये देखो कैसा नूवर छाया है
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या रसूल अल्लाह
अस्सलतू वस्सलामू अलाइका या हबीब अल्लाह

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.