माह-ए-रमज़ां माह-ए-रमज़ां Naat Lyrics

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

आओ ! ए भाईओ आओ ! करो रब को राज़ी
बन्दों को रब से मिलाने माह-ए-रमज़ां आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ां आया

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

बख़्श दे मुझ को इलाही ! माह-ए-गुफ़रां के तुफैल
मग़फ़िरत सब को दिलाने माह-ए-रमज़ां आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ां आया

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

मुझ को आज़ाद जहन्नम से इलाही ! कर दे
बाग़ जन्नत के दिलाने माह-ए-रमज़ां आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ां आया

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

मैंने जो काम खुद हाथों से बिगाड़े अपने
मेरी बिगड़ी को बनाने माह-ए-रमज़ां आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ां आया

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

कर लो आपस में तुम ए भाईयो ! सब रंजिशें दूर
दर्स-ए-ईसार सिखाने माह-ए-रमज़ां आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ां आया

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

मग़फ़िरत का है ये अशरा मेरी बख़्शिश फ़रमा
जोश रहमत का दिखाने माह-ए-रमज़ां आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ां आया

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

अशरा आज़ादी-ए-दोज़ख का है कर दे आज़ाद
नार-ए-दोज़ख से बचाने माह-ए-रमज़ां आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ां आया

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

लाज फ़ानी की तेरे हाथ है ए रब्ब-ए-करीम !
इस को ठुकराया जहाँ ने माह-ए-रमज़ां आया

रहमतें रब की लुटाने माह-ए-रमज़ां आया

माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां
माह-ए-रमज़ां, माह-ए-रमज़ां आया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.