आंखे पुर नूर करूं देख के चेहरा तेरा

आंखे पुर नूर करूं देख के चेहरा तेरा

आंखे पुर नूर करूं देख के चेहरा तेरा
गर अता हो दमे आखिर मुझे जलवा तेरा

मैने माना के सियाह कार हूं में
लाज रख ले मेरे मोला के हूं शैदा तेरा

रोज़े मेहशर की तमाजत से बचाएगा मुझे
मैरी बख्शीश का जरिया है ये जलसा तेरा

देख लो अहले जहां मेरे नबी की उल्फत
चूमा है अहले सिद्रह ने भी तलवा तेरा

कियू भला फिकर करूं रोज़े कियामत की तमीम
खुल्द ले जायेगा मुझको भी वसिला तेरा