अजब रंग पर है बहारे मदीना

 

अजब रंग पर है बहारे मदीना
के सब जन्नतें हैं निसारे मदीना

सरकार का मदीना, सरकार का मदीना
सरकार का मदीना, सरकार का मदीना

खुला है सभी के लिये बाब-ए-रेहमत
वहा कोई रुतबे में अदना ना आली
मुरादों से दामन नहीं कोई ख़ाली
क़तारें लगाए खड़े हैं सवाली

सरकार का मदीना, सरकार का मदीना
सरकार का मदीना, सरकार का मदीना

मैं पहले-पहेल जब मदीने गया था
तो थी दिल की हालत तड़प जाने वाली
वो दरबार सचमुच मेरे सामने था
अभी तक तसव्वुर था जिसका ख़याली

सरकार का मदीना, सरकार का मदीना
सरकार का मदीना, सरकार का मदीना

मैं एक हाथ से दिल संभाले हुए था
तो थी दूसरे हाथ में उनकी जाली
दुआ के लिये हाथ उठते तो कैसे
ना ये हाथ खाली ना वो हाथ खाली

सरकार का मदीना, सरकार का मदीना
सरकार का मदीना, सरकार का मदीना

मदीना मदीना हमारा मदीना
हमे जानो-दिल से है प्यारा मदीना
सुहाना सुहाना दिल-आरा मदीना
हर आशिक़ की आँखों का तारा मदीना

सरकार का मदीना, सरकार का मदीना
सरकार का मदीना, सरकार का मदीना

बहारों में भी हुस्न, कांटे भी दिलक़श
है क़ुदरत ने कैसा सवारा मदीना
ख़ुदा गर क़यामत में फरमाए मांगो
लगाएंगे दीवाने नारा मदीना

सरकार का मदीना, सरकार का मदीना
सरकार का मदीना, सरकार का मदीना

रगे-गुल की जब नाज़ुकी देखता हूँ
मुझे याद आते हैं खारे मदीना
मुबारक रहे अन्दलीबो तुम्हे गुल
हमें गुल से बेहतर है खारे मदीना

सरकार का मदीना, सरकार का मदीना
सरकार का मदीना, सरकार का मदीना

रहें उनके जल्वे, बसें उन के जल्वे
मेरा दिल बने यादगारे मदीना
मुरादे दिले बुलबुले बे नवा दे
ख़ुदाया दिखा दे बहारे मदीना

सरकार का मदीना, सरकार का मदीना
सरकार का मदीना, सरकार का मदीना

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.